Sunday, March 3, 2024

Latest Posts

स्त्री की योनि चाटने के 5 ज़बरदस्त फायदे – Yoni Chatne ke Fayde

योनि को जीभ और होंटों से चाटना आधुनिक युग में काफी लोकप्रिय हो रहा है, और इसके पीछे केवल ये बात नहीं है, कि संचार तंत्र ज़्यादा विकसित हो गया है, बल्कि एजुकेशन बढ़ने के साथ साथ, स्त्री और पुरुष दोनों ही रूढ़ि वादिता की दीवारें तोड़कर, सैक्स को खुलकर इन्जॉय करना चाहते हैं।

क्या योनि अर्थात चुत को जीभ और होंटो से चाटना गलत है। या फिर महज़ भ्रांति

जो बातें बचपन से उनके मन में डाली गईं थीं, कि ये मत करो, गंदी बात होती है, ये सही नहीं है, घोर पाप है, और पता नहीं क्या क्या। अब धीरे धीरे बढ़ती जागरूकता के साथ युवाओं के समझ में आ रही हैं, और वो काम सुख के सभी तौर तरीके सीख रहे हैं।

प्राचीन काल से ही मुखमैथुन संभोग कला का एक अटूट अंग रहा है, लेकिन विभिन्न समयों पर इसको अलग अलग धर्मों और रीति रिवाजों के माध्यम से अपवर्जित और अत्यधिक हानिकारक साबित किया जाता रहा है।

और इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह यही है, कि लोगों के मन में यही डर रहता है, कि गुप्तअंगों को गीला चुंबन करने से उनको कोई बीमारी न हो जाए।

योनि चाटने से बीमारियाँ लग सकती हैं, ये सच है, लेकिन…

एक हद तक ये बात सही भी है। चूंकि जीवाणु शरीर के बाकी भागों की तुलना में गुपतंगों अर्थात योनि और लिंग वाले भागों में अधिक पनपते हैं, और अगर योनि में कोई संक्रमण है, या लड़का और लड़की में से किसी कोई कोई ऐसी बीमारी है, जो रक्त के माध्यम से फैलती है, तो निश्चित रूप से मुखमैथुन, हानिकारक है, और इसको ट्राइ ही नहीं करना चाहिय।

लेकिन अगर लड़का और लड़की पूरी तरह स्वस्थ हैं, तो योनि को चाटने या लिंग को चूसने में कोई भी नुकसान नहीं है। बल्कि ये फायदेमंद है।

योनि को गीला चुंबन देने के 5 फायदे

ये सत्य है, कि एक लंबा मोटा और कठोर लिंग, स्त्री को संभोग के चरमसुख तक ले जाने के लिए काफी होता है। लेकिन ये भी तो सच है, कि अगर आप शाही पनीर खा रहे हैं, तो साथ में अचार , सलाद और स्वाद को बढ़ाने वाले कुछ दूसरे खाद्य पदार्थ उस शाही पनीर के स्वाद को कई गुना तक बढ़ा देते हैं।

ठीक ऐसे ही, लिंग योनि को अगर अच्छी तरह भेदता है, तो ये भी सच है, कि लिंग योनि के बाहरी आती संवेदनशील भागों जैसे clitoris और योनि के बाहरी होंटों को कुछ खास स्पर्श नहीं कर पाता है, और वो तो बस योनि के अंदरूनी भागों को ही आनंद पहुंचा पाता है।

स्त्री और पुरुष के बीच भावनात्मक रिश्ता मजबूत होता है

तो योनि को अपने अधरों से मथने का पहला फायदा है, कि ऐसा करने से स्त्री का पुरुष के प्रति प्रेम भाव बढ़ता है, और उसके मन में प्रेम की ऐसी भावना उमड़ती है, मानो उसका प्रेमी उसके किसी भी भाग को उसके सेवक की तरह अपने होंटो और जिह्वा से छू सकता है, और ऐसा करने में उसको किसी भी प्रकार कि घृणा महसूस नहीं होती है। तो योनि चाटने से स्त्री का अपने प्रेमी के प्रति सम्मान और प्रेम दोनों बढ़ जाते हैं।

योनि चाटने से योनि के बाहरी भागों को संवेदनाएं दी जा सकती हैं।

जिह्वा और होंट, शरीर के दो ऐसे भाग होते हैं, जिनके कहीं पर छूने से सबसे ज़्यादा गुदगुदी का अनुभव होता है। जब पुरुष इनका प्रयोग करके योनि को मथता है, तो एक विशेष प्रकार की संवेदनाएं महिला के गुप्तांग में उत्पन्न होती हैं, और ये संवेदनाएं उसको अपार आनंद कि अनुभूति कराती हैं। ये संवेदनाएं इतनी शक्तिशाली होती हैं, कि ये मस्तिष्क के एक विशेष भाग तक जाती हैं। उस भाग तक जहां तक लिंग द्वारा उत्पन्न संवेदनाएं भी पहुँच नहीं पाती हैं। माना जाता है, कि मस्तिष्क के उस हिस्से के सक्रिय होने पर महिला के शरीर में वो हॉर्मोन्स स्रावित होते हैं, जो डिप्रेशन को दूर करने में मदद करते हैं।

योनि मुखमैथुन तनाव और अवसाद से ग्रसित महिलाओं का मूड बनाने में मदद करता है

जिह्वा अर्थात जीभ से योनि के ऊपरी भाग पर उपस्थित दाने को गोल गोल सहलाने से उन महिलाओं को काफी फायदा मिलता है, जो किसी मानसिक तनाव के कारण संबंध बनाने में रुचि नहीं रखती हैं, और क्लिटोरिस को जीभ से सहलाते रहने पर वो संभोग के लिए पागल हो जाती हैं, और योनि में लिंग को लेने के लिए मचलने लगती हैं।

नपुंसकता से जूझ रहे पुरुष योनि चाटकर अपने साथी को संतुष्ट कर सकते हैं

जो पुरुष अपने छोटे ढीले लिंग से या किसी भी वजह से पत्नी को चरमसुख नहीं दे पाते हैं, वो योनि को चाटकर उसको चरमसुख दे सकते हैं। जैसा की मैं पहले ही बता चुकी हूँ। कि योनि के ऊपर उपस्थित दाना मतलब क्लिटोरिस के अत्यंत संवेदनशील अंग होता है, और दुर्भाग्यपूर्ण बात ये है, कि penis इसको छू नहीं पाता है। क्लिटोरिस में लाखों तंत्रिकाएं आकर जुड़ती हैं, और अगर इसको जीभ और लिप्स से चूसा जाए, तो स्त्री को करंट सा लग जाता है, और वो आसानी से चरमसुख प्राप्त कर लेती हैं । यही वजह है, कि कई सारे लड़के लड़कियां संभोग क्रिया में वाइब्रैटर का भी प्रयोग करते हैं।

योनि चाटकर पुरुष सैक्स क्रिया में रोमांच बढ़ा सकते हैं।

अब लड़की के प्राइवेट पार्ट को प्यार करने का आखिरी फायदा। और ये फायदा लड़कों के लिए है। लेकिन ये depend करता है। इसके लिए जरूरी है, कि योनि न सिर्फ साफ सुथरी हो, बल्कि देखने में सुंदर भी होनी चाहिए। और उससे निकलने वाले पानी में से किसी तरह की खराब गंध नहीं आनी चाहिय। साथ ही साथ योनिका पानी फीका होना चाहिए। अगर ये सारी बातें सही हैं, तो लड़का योनि को चाटने को पूरा पूरा इन्जॉय कर सकता है। और वो अपनी उन fantasies को पूरा कर सकता है, जो वो adult फिल्म्स में देखता है। सभी लड़के adult movies के उन scenes को काफी पसंद करते हैं, जब कोई लड़का लड़की की टांगों के बीच में सर घुसाकर उसकी योनि को किस करता है। और ये scene देखने में काफी उत्तेजक लगता है।

Latest Posts

Don't Miss