Monday, March 4, 2024

Latest Posts

टीबैगिंग (Teabagging): अंडकोषों के ज़रिये मुख मैथुन की कला 

टीबैगिंग क्या है ?

टीबैगिंग मुखमैथुन का एक प्रकार है जिसमें पुरुष पार्टनर अपने अंडकोषों यानी बॉल्स (स्क्रोटम) को अपनी महिला  सेक्स पार्टनर के मुंह में इस तरह डालता है जैसे चाय की पत्ती का बैग चाय में डुबोया जाता है. जिस तरह बार बार टीबैग को चाय के अंदर डिप किया जाता है वैसे ही टीबैगिंग मुख मैथुन में भी अंडकोषों को बार बार मुख में डाला जाता है और निकाला जाता है. 

teabagging penis oral

क्या टीबैगिंग दोनों पार्टनर्स के लिए सुखदायी होता है?

टीबैगिंग में जो व्यक्ति अपने अंडकोषों को स्त्री के मुख में लटकाता है उसे टीबैगर और स्त्री या जिसके मुंह में लटकाता है उसको टीबैगी कहते हैं. टीबैगी को इसमें वहीं आनंद मिलता है जो मुखमैथुन करने वाले व्यक्ति को मिलता है यानी जनन अंगों को मुख से छूने और चाटने का आनंद. लेकिन क्या उस व्यक्ति को भी आनंद मिलता है जो अपने अंडकोषों को दूसरे पार्टनर के मुख में लटकता है. लिंग की भांति अंडकोषों की त्वचा में भी ईरोजेनस रिसेप्टर्स होते हैं जो छूने सहलाये जाने पर आनंद की संवेदनाओं को ग्रहण करते हैं. इसलिए जब अंडकोषों को दूसरा पार्टनर मुख से छूता है तो टीबैगर को भी निस्संदेह मज़ा मिलता है.

टीबैगिंग के विभिन्न  रूप क्या हैं? 

टीबैगिंग का सबसे सरल रूप ये हैं कि पुरुष पार्टनर खड़ा हो और महिला पार्टनर उसके अंडकोषों के नीचे अपने मुख  को रखे. अब चाहे पुरुष पार्टनर और चाहे महिला पार्टनर गति करके अंडकोषों को मुंह के अंदर बाहर करे. 

टीबैगिंग का एक रूप ये भी होता हैं कि पुरुष पार्टनर अपने सेक्स पार्टनर के मुख पर स्क्वैट करके (उकड़ू) बैठ जाए. 

टीबैगिंग के फायदे 

टीबैगिंग के कई फायदे हैं जैसे एक तो यह नॉन-पेनिट्रेटिव सैक्स होता हैं जिससे स्त्री चाहे तो अपनी वर्जिनिटी को बिना तोड़े पुरुष पार्टनर को सम्भोग सुख दे सकती हैं. टीबैगिंग के ज़रिये सेक्शुअली ट्रांसमिटिड डिज़ीज़ यानी सैक्स के ज़रिये से फैलने वाली बीमारियों जैसे एड्स के होने की भी सम्भावना बहुत कम होती हैं. 

क्या टीबैगिंग परपीड़क रति का एक प्रकार हैं?

नहीं. टीबैगिंग में न तो टीबेगर को और न ही टीबैगी को किसी प्रकार का दर्द होता हैं. 

क्या टीबैगिंग अपमानित करने के लिए प्रयोग की जाती है?

यह आपके और आपके सेक्स पार्टनर के संबंधों पर निर्भर करता  हैं. टीबैगिंग दोनों पार्टनर्स की सहमति से भी हो सकती है और बलपूर्वक भी. सभी प्रकार के सैक्स की भांति चाहे वह वजाइनल सैक्स हो या गुदा मैथुन या सैक्स का कोई और रूप, टीबैगिंग कभी कभी टीबैगी को अपमानित करने के लिए भी की जाती है. ऐसे मामलों में अक्सर टीबैगी भी पुरुष ही होता है. जब एक पुरुष किसी अन्य के मुख में वह चाहे स्त्री हो या पुरुष अपने अंडकोष उसकी सहमति के बिना लटकाता है तो यह टीबैगी को अक्सर अपमानित करने के लिए ही होता है. 

टीबैगिंग : टीवी, फिल्मों आदि में 

 मशहूर अमेरिकी टीवी शो सेक्स एंड द सिटी में टीबैगिंग का ज़िक्र है. 

Latest Posts

Don't Miss