Friday, May 17, 2024

Latest Posts

Salam Panja ke Fayde, khane tarika Hindi

सालम पंजा, या सलाब पंजा एक कम जानी पहचानी और दुर्लभ जड़ी बूटी है। दोस्तों, ये वो जड़ी बूटी है, जिसकी खरीद  फरोख्त पर कई देशों की सरकारों  ने रोक लगा रखी  है, और कुछ विशेष दवा कंपनियां जैसे हिमालया पर ही आप ये भरोसा कर सकते हैं, कि वो आपको असली सलाम पंजा उपलब्ध कर पा  रही हैं। और वो भी केवल अपनी कुछ पटेन्टेड दवाओं के ज़रिए ही ये कंपनियां सलाम पंजा को आप तक पहुंचा पाती हैं।

जैसे की कॉन्फिडो, और स्पेमन. सालम  पंजा एक काफी ऊंचाई वाले परवर्तीय भागों में उगने वाला बहुवर्षीय पौधा होता है, जसका तना ज़मीन में जाकर मोती मोती गांठे बना लेता है. ये गांठे देखने में किसी जानवर के पंजे के समान होती हैं. यही वजह है कि इसका दवा का नाम सालम पंजा पड़ गया.

सालम पंजा का बोटैनिकल नेम डेक्टाइलोरिज़ा हेटेगेरिया है. ये प्लांट फॅमिलिटी ओर्किडेसी से सम्बन्ध रखता है. कई हज़ार फ़ीट की ऊंचाई पर उगने वाला ये पौधा ३ फ़ीट तक ऊँचा एक झाड़ी के समान होता है. दोस्तों, चूँकि ये पौधा तेज़ी से विलुप्त होता जा रहा है, तो कई देशों में इसके कलेक्शन पर रोक लगा दी गयी है. तो अगर आप अपने इलाक़े में किसी हर्बल स्टोर से कच्चे माल के रूप में इस जड़ी बूटी को खरीद रहे हैं, तो थोड़ा सावधान रहिय. क्योंकि नक़ली सालम पंजा बड़े पैमाने पर बेंचा जा रहा है. धोखाधड़ी करने वाले अलग अलग तरकीब से नक़ली सालम पंजा बना लेते हैं. जैसे कि आलू का इस्तेमाल करके सालम पंजा बनाया जाता है, जो देखने में सालम पंजा जैसा ही लगता है.

सालम पंजा को सलाब पंजा, हट्टा हड्डी, हाथ पंजा आदि नामों से भी जाना जाता है। लेकिन ध्यान रहे, कि सलाब गट्टा, और सलाब मिस्री नाम दूसरी जड़ी बूटियों के होते हैं। ये पौधा मुख रूप से पाकिस्तानी, भारतीय और नेपाली पहाड़ों पर पाया जाता है।

Health Benefits of Salam Panja सालम पंजा के फायदे

सालम पंजा न सिर्फ ट्रडिशनल मेडिसन जैसे आयुर्वेदा और यूनानी, बल्कि मॉडर्न मेडिसिन में भी विभिन्न बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। सालम पंजा में पाए जाने वाले phytocompounds antibacterial और antiseptic पाए गए हैं। इसका इस्तेमाल dysentery, डाइरिया, पुरानी खांसी, घाव कि मरहम पट्टी आदि के लिए किया जाता है।

इसके अलावा रिसर्च में ये बात भी सामने आई है, कि सालम पंजा, पुरुषों में आई सेक्शुअल वीकनस को दूर करने में भी मददगार है। विभिन्न शोधों के आधार पर ये निष्कर्ष निकाला गया है, कि सालम पंजा पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन के स्रावण को संतुलित करता है, और शरीर को बलिष्ठ बनाने में मदद करता है।

विभिन्न पारंपरिक चिकित्सा शास्त्रों जैसे आयुर्वेद, यूनानी, और आमची चिकित्सा पद्धति में इसका प्रयोग ऐफ्रोडीज़ीऐक दवा के रूप में किया जाता है। अर्थात जिन मर्दों में कामोत्तेजना कम हो गई है, उसको ये बढ़ाता है।

पारंपरिक पद्धतियों में इसका प्रयोग नपुंसकता, लिंग का ढीलापन, शीघ्रपतन और धात रोग के उपचार में भी किया जाता है।

  • पुरुषों में शीघ्रपतन दूर करता है
  • पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन का स्रावण बढ़ाता है (आधुनिक शोधों के आधार पर)
  • आंतरिक रूप से शरीर को शक्ति देता है।
  • शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।
  • तनाव और अवसाद दूर करता है।
  • प्रजनन तंत्र को आज़बूत करता है, और शुक्राणु जनन को बढ़ावा देता है।

How to use Salam Panja सालम पंजा की प्रयोग विधि

जैसा कि मैं पहले ही बता चुका हूँ, सालम पंजा एक लगभग प्रतिबंधित जड़ी बूटी बन चुकी है। अगर आप इसको किसी लोकल हर्बल स्टोर से खरीद रहे हैं, जिनको आम भाषा में पनसारी की दुकान कहा जाता है। तो आपको सावधान रहने की ज़रूरत है। सालम पंजा को बड़े महेंगे दामों में बेंचा जा रहा है। मेरी सलाह है, कि आप सालम पंजा किसी विश्वसनीय ब्रांड से, या विश्वसनीय डीलर से ही खरीदें। और खासतौर से मैं ये कहना चाहूंगा, कई सम्भवः सरकर ने सालम पंजा का उपयोग करने की अनुमति केवल पेटेंटेड दवाओं में करने के लिए ही दे रखी है. इसलिए कच्चे माल के तौर पर सालम पंजा न खरीद कर किसी पटेन्डेड दवा जैसे हिमालया कॉन्फिडो, स्पेमन आदि को खरीद लें, जिनमे सालम पंजा प्रयोग किया गया है.

Dosage of Salam Panja सालम पंजा की खुराक

सालम पंजा का तना ज़मीन में जाकर मोती मोती जड़ो जैसी रचनाओं का रूप ले लेता है. ये tuberous तना जो जानवर के पंजे के समान दिखाई देता है, यही दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है.

सालम पंजा के इस भाग के चूर्ण का ३ ग्राम दूध ये पानी के साथ लिया जा सकता है. ध्यान रहे कि दवा लेने वाला व्यक्ति १८ साल से अधिक आयु का होना चाहिए। और उसको कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या जैसे ह्रदय रोग, मधुमेह, थाइरोइड, गुर्दा रोग, मस्तिष्क या नर्वस सिस्टम सम्बन्धी परेशानियां नहीं होनी चाहियें। क्योंकि सालम पंजा एक स्ट्रांग मेडिसिन है, जिसको केवल स्वस्थ व्यक्ति को ही प्रयोग करना चाहिए।

Salam Panja Possible Side effects – सालम पंजा से होने वाले दुष्प्रभाव

अभी तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है, जिसमे सालम पंजा के प्रयोग से रोगी की कोई परेशानी हुई हो। लेकिन फिर भी हम यहू सलाह देंगे, कि अगर आपको सालम पंजा के नियमित प्रयोग के दौरान कोई असामान्य स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होती है, तो इसका प्रयोग रोक दें, और किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से संपर्क करें। तो दोस्तों, इस विडिओ में अपने जाना, सालम पंजा क्या होता है, इसका कौन स भाग दवा के रूप में प्रयोग होता है, इसके फायदे, और संभव नुकसान क्या हो सकते हैं।

अगर आपको ये लेख अच्छा लगा , तो हमारी वेबसाईट को बुकमार्क कर लीजिए, ताकि आपको आने वाले नए नए लाभकारी लेखों की जानकारी मिलती रहे। ।

Latest Posts

Don't Miss