Monday, March 4, 2024

Latest Posts

Confido vs Speman vs Tentex Royal vs Tentex Forte

हिमालया दवा कंपनी ने मेल sexual weakness के लिए 5 patented प्रोडक्ट मार्केट में उतारे हुए हैं,

Confido tablets, Speman Tablets, Tentex Royal capsules और Tentex Forte Tablets. और साथ में ये कंपनी सर्व करती है, एक topical gel , जो penis की मसाज के लिए होता है। जिसका नाम है हिमकोलिन जैल

तो guys वैसे तो आपने कई सारी वीडियोज़ यूट्यूब और दूसरे platforms पर देखी होंगी, और articles भी इसके regarding रीड किये होंगे।

कैसे चुने सैक्स पावर बढ़ाने के लिए हिमालया का बेस्ट प्रोडक्ट

लेकिन इस बार मैंने थोड़ा different apporach की है, आपको ये समझाने के लिए, कि अगर आप हिमालया वेल्नस कंपनी का कोई product सेक्शुअल health के लिए इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो precisely कैसे चुने, और कैसे जाने कि आपकी परेशानी के हिसाब से कौन सा उत्पाद आपके लिए बेस्ट रहेगा।

ये कंटेन्ट निम्नलिखित बातों पर आधारित है

  • इन चारों उत्पादों में डाले गए घटक द्रव्यों (जड़ी बूटियों और खनिजों) का आयुर्वेदिक रोगधिकार
  • आधुनिक विज्ञान के अनुसार इस्तेमाल की गई जड़ी बूटियाँ के फायदे
  • विभिन्न रोगियों और doctors का फीडबैक

मैंने इन चारों दवाओं के घटक द्रव्यों का गहनता से अध्ययन किया, और ये जस्टफाइ करने की कोशिश की, कि किस पुरुष को, अपने रोग के अनुसार, इनमे से कौन सा प्रोडक्ट इस्तेमाल करना चाहिए।

guys । चूंकि मैं एक herbalist हूँ। और हिमालया एक देसी दवाएं बनाने वाली कंपनी है।

हिमालया की दवाओं के ऊपर भी यही लिखा होता है, कि पहले आप किसी ayurvedacharya से कन्सल्ट करें, उसके बाद ही औषधि का प्रयोग करें।

रेडीमेड आयुर्वेदिक दवा खरीद कर खा लेने से हमेशा फायदा क्यों नहीं होता?

आयुर्वेद में वात्, पित्त और कफ दोषों की जो संकल्पना है, उसके आधार पर ही वैद्य रोगी का उपचार करता है। और रोगी की प्रवर्त्ति के अनुसार ही उसको दवा दी जाती है।

तो फर्स्ट एण्ड फोर्मोस्ट, retail स्टोर से अपनी मर्ज़ी से कोई भी आयुर्वेदिक दवा लेकर इस्तेमाल कर लेना, इतना लाभप्रद नहीं होता है, जितना चिकित्सक के परामर्श के बाद सही दवा चुनकर खाना, लाभप्रद होता है।

खैर फिर भी मेरी कोशिश यही है, कि मैं आपको समझा सकूँ कि कैसे आप इन चारों दवाओं का सेल्फ medication कर सकते हैं। कैसे अपनी परेशानी के अनुसार सही दवा का चयन कर सकते हैं।

हिमालया कॉन्फिडो किन किन दशाओं में उपयुक्त है

सबसे पहले बात करते हैं, confido tablets की। confido जो कि सैक्स को लेकर हिमालया की सबसे मशहूर दवा है।

Confido में कुछ गिनी चुनी जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया गया है, साथ में इसमे स्वरणवंग भस्म का भी प्रयोग किया गया है। इसमे गोखरू, तालमखाना, कपिकच्छु , वण्यकहू, सरपगंधा आदि जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया गया है। ये दवाएं कामोत्तेजना बढ़ाती हैं, शरीर को बलवान बनती हैं, और वीर्य को पुष्ट करती हैं। जिसका नतीजा ये होता है, कि पुरुष मैटिंग के दौरान बेहतर परफ़ॉर्म कर पाता है।

देखा जाए, तो ये सभी जड़ी बूटियाँ आयुर्वेद के अनुसार वाजीकर, या पुरुषों में संभोग शक्ति बढ़ाने के लिए होती हैं। लेकिन हाँ। सरपगंधा के औषधीय गुण अलग होते हैं, और ये ज़्यादातर मस्तिष्क संबंधी विकारों में इस्तेमाल की जाती है। इसका इस्तेमाल घबराहट, और डर दूर करने, और नींद लाने में किया जाता है। तो देखा जाए तो सर्पगंधा का confido में इस्तेमाल, संभोग के समय पुरुष का आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए किया जाता है। क्योंकि कई सारे लड़के संभोग के समय डरे हुए होते हैं, उनको डर होता है, कि कहीं वो काम क्रिया में विफल न हो जाएं। और इस डर के कारण वो वास्तव में ही विफल हो जाते हैं। और घबराहट के कारण उनका वीर्य समय से पहले ही निकल जाता है। सर्पगंधा का confido में इस्तेमाल निश्चित रूप से शीघ्रपतन को रोकने के लिए ही किया गया है।

स्वर्ण वंग को Mercury, और Sulphur को भस्म के रूप में शोधित करके बनाया जाता है। जो खासतौर से आयुर्वेद में infections, specially urinary tract infections aur respiratory tract के infections को treat करने के लिए किया जाता है। स्वर्ण वंग के प्रयोग से पुरुष बीमारियों से बचा रहता है, और उसके शरीर में टूटफूट कम होती है। सीधी सी बात है, कि जितना कोई कम बीमार पड़ेगा, वो उतना ही अधिक बलवान और जवान बना रह पाएगा। तो इस तरह confido में स्वर्ण वंग का प्रयोग भी indirectly लड़कों को sexually potent बनाने में मदद करता है।

हमने Confido के तत्वों कि समीक्षा की और हम इस नतीजे पर पहुंचे कि Confido उन पुरुषों के लिए बेहतर है जिनको ये समस्याएं रहती हों, जैसे –

  • जिनको सैक्स के समय घबराहट रहती हो और उसकी वजह से उनको शीघ्रपतन हो जाता हो।
  • जिनको सैक्स के समय घबराहट के कारण उनके लिंग से, संभोग की मध्यवस्था में ही तनाव चला जाता हो।
  • जो बार बार बीमार पड़ जाते हों, और जिस कारण उनका शरीर दुर्बल हो गया हो, और वो यौन दुर्बलता के शिकार हो गए हों।

अब हम बात करते हैं। speman टैबलेट की

speman tablet और confido के ingredients 99% मैच करते हैं। वो सभी हर्ब्स जो confido में इस्तेमाल की गई हैं, सभी sepman में भी डाली गई हैं। सिर्फ सर्प गंधा ऐसी हर्ब है, जिसका इस्तेमाल speman में नहीं किया गया है। साथ ही साथ स्वर्ण वंग भस्म भी speman में इस्तेमाल की गई है।

अब फर्क एक तो ये हो गया, कि Speman में सर्प गंधा नहीं है। और guys दूसरा बड़ा फर्क ये है, कि speman में उन हर्ब्स की मात्रा को बढ़ाकर डाला गया है, जो spermatogenesis को promote करती हैं, जैसे गोकशुरा, अश्वगंधा, कोंच बीज आदि।

तो इस बात से हम ये निष्कर्ष निकाल सकते हैं, कि speman, confido का एक रूपांतरण हैं, जो खासतौर से पुरुषों में वीर्य संबंधी विकारों को दूर करने के लिए बनाया गया है। जैसे low sperm count, poor sperm health, poor spermatogenesis और दूसरी समस्याएं जैसे पेशाब में धात गिरना और वीर्य का पतलापन, स्वप्नदोष आदि।

तो speman ऊपर बताई कंडिशन्स मे ली जा सकती है।

तीसरी दवा है, टेंटेक्स्ट रॉयल

टेंटेक्स रॉयल को खासतौर से कामोत्तेजना और stamina बढ़ाने के लिए बनाया गया है। इसमे गोखरू, सफेद मूसली, बादाम, केसर, Piper Betle या पान के पत्ते, utanjan के बीज और काली मूसली का इस्तेमाल किया गया है। ये सभी औषधियाँ चूंकि हर्बल हैं, तो इनके नियमित रूप से सेवन करने से कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है।

टेंटेक्स रॉयल एक पूरी तरह जड़ी बूटियों से बना एक sex capacity बढ़ाने वाला, और शरीर का overall stamina बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक capsule है। जिसको कोई भी ऐसा लड़का जो किसी तरह की sexual रीलैशन्शिप में है, इस्तेमाल कर सकता है।

तो चलिए जानते हैं कि टेंटेक्स रॉयल को कौन कौन इस्तेमाल कर सकता है, और किसको इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

  • अगर कोई पुरुष विवाहित है, या किसी भी वजह से अपनी कामोत्तेजना बढ़ाना चाहता है।
  • ज़्यादा हस्तमैथुन, या ज़्यादा sexual इनर्कॉर्स की वजह से आई शारीरिक और पौरुष दुर्बलता जैसे लिंग में तनाव कम आना और कामेच्छा की कमी को दूर करने के लिए। इस स्थिति में 18 से 30 साल के बीच भी इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • 30 साल की उम्र के बाद विगर और वाइटैलिटी को बनाए रखने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • अगर कोई लड़का 18 से 30 के बीच है, और वो किसी तरह की सेक्शुअल रीलैशन्शिप में नहीं है, या उसकी शादी नहीं हुई है, और वो पूरी तरह स्वस्थ है। तो उसको इस दवा का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से उसको बेवजह यौनेच्छा बढ़ सकती है। और उसको हॉर्मोनल imbalance हो सकता है।

अब लास्ट में आता है। टेंटेक्स फोर्ट। जो कि नाम से ही काफी भारी भरकम महसूस होता है।

टेंटेक्स फोर्ट में हिमालया ने सभी ऐसी जड़ी बूटियों और भस्मों का इस्तेमाल किया है, जो सेक्शुअल desire को बूस्ट करती हैं। और stamina बढ़ाती हैं। एक तरह से आप मान सकते हैं, कि ये टेंटेक्स रॉयल का एक्स्टेंडेड वर्ज़न है, और इसमे न केवल संभोग शक्ति बढ़ाने वाली जड़ी बूटियों का इस्तेमालकिया गया है,बल्कि इसमे मिनेरल्स का भी इस्तेमाल किया गया है, जो अलग अलग तरीके से पौरुष दुर्बलता दूर करने का काम करती हैं।

टेंटेक्स फोर्ट का इस्तेमाल इन कंडिशन्स में करना बेहतर होता है

  • अगर sexualweakness ज़्यादा है, और लिंग में तनाव काफी कम आता है। तो टेंटेक्स रॉयल के स्थान पर टेंटेक्स फोर्ट का प्रयोग करना चाहिए
  • अगर किसी बीमारी की वजह से शरीर कमज़ोर हो गया है, और उसकी वजह से शीघ्रपतन की समस्या हो रही है। तो इस कन्डिशन में टेंटेक्स फोर्ट ज़्यादा बेहतर तरीके से काम करती है।
  • अगर एक हि रात में बार बार संभोग करने की इच्छा हो तो भी टेंटेक्स फोर्ट, टेंटेक्स रॉयल की जगह इस्तेमाल करना अच्छा रहता है।
  • किन किन कन्डिशन में टेंटेक्स फोर्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपकी आयु 18 से 30 के बीच है, आप पूरी तरह स्वस्थ हैं, और आप किसी भी तरह कि सेक्शुअल relationship मे नहीं हैं। तो आपको टेंटेक्स फोर्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। क्योंकि ये बेवजह आपकी कामेच्छा बढ़ा सकता है।
  • ज़्यादा हस्तमैथुन, या अतिसंभोग की वजह से आई शारीरिक और पौरुष दुर्बलता जैसे लिंग में तनाव कम आना और कामेच्छा की कमी को दूर करने के लिए। इस स्थिति में 18 से 30 साल के बीच भी इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

लास्ट में एक पॉइंट ये भी ऐड कर देती हूँ, कि टेंटेक्स रॉयल इन चारों दवाओं में से ऐसी दवा है, जिसमे किसी मिन्रल या मेटल का इस्तेमाल नहीं किया गया है। इसलिए इसको नियमित रूप से 6 महीने से ज़्यादा भी लिया जा सकता है। जबकि बाकी तीनों दवाओं को 6 महीने से ज़्यादा नहीं लेना चाहिए।

तो दोस्तों। उम्मीद है, कि मैंने हिमालया की इन चारों दवाओं में difference ठीक से आपको समझाया होगा। अगर फिर भी आपके मन में कोई doubt है, तो आप कमेन्ट करके मुझसे पूछ सकते हैं।

Latest Posts

Don't Miss